कैसे मनाया जाता है छठ पर्व, जानिए पूजा से पहले किन चीजों का करें इंतजाम

हिंदुओं का प्रमुख त्योहार चार दिन तक चलने वाला आस्था का महापर्व छठ पूजा गुरुवार 31 अक्तूबर को शुरू हो जाएगा। छठ पूजा की शुरुआत कार्तिक शुक्ल चतुर्थी को नहाय खाय के साथ हो जाती है। इस पर्व की खास रौनक बिहार, झारखंड, पूर्वी उत्तर प्रदेश और पड़ोसी देश नेपाल में देखने को मिलती है। इस पर्व में पूजा-पाठ में विधि-विधान का खास ख्‍याल रखा जाता है।

मान्यता है कि छठ पूजा करने से छठी मैया प्रसन्न होकर सभी की मनोकामनाएं पूर्ण कर देती हैं। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार छठी माता को सूर्य भगवान की बहन कहा जाता है। चार दिनों तक चलने वाले इस पर्व को छठ पूजा, डाला छठ, छठी माई, छठ, छठ माई पूजा, सूर्य षष्ठी पूजा आदि कई नामों से जाना जाता है।

छठ पर्व प्रकृति से जुड़ने और प्रकृति के प्रति आभार प्रकट करने का पर्व है। इसलिए सदियों से इस पर्व को नदी, तालाब और जल क्षेत्र के आस-पास मनाने की परंपरा रही है। इस दिन व्रत रखने वाले स्नान आदि कर नये वस्त्र धारण करते हैं और शाकाहारी भोजन करते हैं।

अगर आप भी यह व्रत करने जा रहे हैं तो पूजा में क्या-क्या जरूरी सामग्रियां चाहिए होती है, आइए जानते है।

बांस की टोकरी...
छठ पूजा के लिए बांस की टोकरी का प्रयोग किया जाता है। इसमें ही पूजन सामग्री रखकर अर्घ्‍य देने के लिए पूजन स्‍थल तक जाते हैं।

गन्‍ना...
छठ पूजा में गन्‍ने का भी महत्‍वपूर्ण स्‍थान है। अर्घ्‍य देते समय पूजन सामग्री में गन्‍ने का होना बहुत जरूरी होता है।

प्रसाद के लिए ठेकुआ...

गुड़ और आटे से मिलकर बनने वाले ठेकुआ को छठ पर्व का प्रमुख प्रसाद माना जाता है। मान्‍यता है कि इस प्रसाद के बिना पूजा अधूरी होती है।

केला...
छठ पूजा में केले का पूरा गुच्‍छा चढ़ाया जाता है। इसके बाद प्रसाद में उसे वितरित किया जाता है।

चावल के लड्डू...
छठ मैय्या को चावल के लड्डू अत्‍यंत प्रिय होते हैं। इसका कारण इसकी शुद्धता है क्‍योंकि चावल कई परतों में होता है इसलिए मानते हैं कि कोई पक्षी इसे झूठा नहीं कर पाता। कहते हैं कि अशुद्धता हो तो छठ माई नाराज हो जाती हैं।

नारियल...
पूजन सामग्री में कच्‍चे नारियल का अपना ही महत्‍व है। छठ माई को नारियल का भोग लगाकर इसे प्रसाद में वितरित करते हैं।

डाभ नींबू...
नारियल, लड्डू और गन्‍ना के साथ ही प्रसाद में डाभ नींबू का विशेष स्‍थान है। ये खट्टे के तौर पर अर्पित किया जाता है।
सास-बहू की टेंशन का कम करने के वास्तु टिप्स
इन 4 उपायों से आपके पास पैसा खिंचा चला आएगा
ज्योतिष : इन कारणों से शुरू होता है बुरा समय

Home I About Us I Contact I Privacy Policy I Terms & Condition I Disclaimer I Site Map
Copyright © 2019 I Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved I Our Team