दर्पण को गलत दिशा में लगाने से होता है ऐसा...

आईना हमारे घरों का एक खास हिस्सा होता है। आईने के सामने खड़े होकर खुद को निहारना किसे अच्छा नहीं लगता। लेकिन क्या आप जानते है कि वास्तुशास्त्र के हिसाब से भी दर्पण की घर में काफी अहमियत होती है।

आपके घर में किस दिशा में, किस आकार और आकृति का दर्पण लगा है, इसका भवन और इसके आस-पास की उर्जा पर काफी प्रभाव पड़ता है। इसलिए वास्तुशास्त्र में इसके सही इस्तेमाल पर काफी जोर दिया जाता है, क्योंकि दर्पण का इस्तेमाल किसी भी तरह की अशुभ उर्जा का मार्ग बदलने के लिए किया जाता है।

वास्तु शास्त्री मानते हैं कि सुख-समृद्धि के लिए सही दिशा में, उपयुक्त आकार के दर्पण का होना बहुत जरूरी है। न सिर्फ भारतीय वास्तु शास्त्र में, बल्कि चाइनीज वास्तु यानी फेंगशुई में भी दर्पण को लाभकारी माना गया है। लेकिन इसके लाभ के लिए इसका सही इस्तेमाल बहुत जरूरी है, क्योंकि गलत इस्तेमाल से नुकसान होते भी देर नहीं लगती।

- वास्तु शास्त्र के मुताबिक, सकारात्‍मक ऊर्जा की तरह दर्पण नकारात्‍मक ऊर्जा में भी वृद्धि करता है। गलत दिशा में लगा दर्पण अनर्थ का कारण बन सकता है ।

- काम में मन न लगना या जरूरत के समय पैसा न मिलना जैसी अडचन भी दर्पण के गलत दिशा में लगे होने के कारण उत्‍पन्‍न हो सकती हैं।

- घर से बाहर या काम पर जाने का मन नहीं करना भी दर्पण की गलत स्थिति के कारण होता है।
प्रवेश द्वार के ठीक सामने लगा दर्पण घर की सारी सकरात्‍मक ऊर्जा को नि‍ष्‍काशित कर देता है।

- कभी-कभी दर्पण सही दिशा में लगा होने के बावजूद गलत प्रभाव डालता है। इसकी वजह है उसके आस-पास रखा गया कोई ऐसा सामान जो दर्पण की सकारात्‍मक ऊर्जा को घटा देता है।

- दर्पण लोग वास्‍तु के अनुसार नहीं, अपनी सुविधा के अनुसार लगाते हैं। दुखद तथ्‍य यह है कि ज्‍यादातर लोगों को पता ही नहीं होता कि अनजाने में जो परेशानियां वे झेल रहे हैं, उनकी वजह गलत दिशा में रखा गया दर्पण है।

- दर्पण की सही दिशा के लिए कई लोग पढी-पढायी बातों पर अमल करने लगते हैं। ऐसा करने से बचना चाहिए। क्‍योंकि दर्पण के दिशा निर्धारण में एक योग्‍य वास्‍तुशास्‍त्री कई बातों को ध्‍यान में रखता है, जैसे- भवन की दिशा, कमरे की दिशा, दरवाजे की स्थिति, मुखिया की जन्‍म तिथि आदि।

- कई बार आपका बैठने का स्‍थान बीम के नीचे होता है या फिर पिलर दीवार से बाहर निकालकर नकारात्‍मक ऊर्जा का स्रोत बना होता है। ऐसे मामलों में दर्पण दोष निवारण में सहायता करते हैं।
नववर्ष में अपनी झोली में खुशियां भरने के लिए करें ये 6 उपाय
क्या आप परेशान हैं! तो आजमाएं ये टोटके
केवल 3 सिक्के चमका सकते हैं किस्मत

Home I About Us I Contact I Privacy Policy I Terms & Condition I Disclaimer I Site Map
Copyright © 2019 I Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved I Our Team