झाडू के सही रख-रखाव व उपयोग से परिवार में रहती है माँ लक्ष्मी की कृपा

सनातन धर्म की मान्यता के अनुसार जिस घर में स्वच्छता होती है वहां नकारात्मक शक्तियां प्रवेश नहीं करतीं। साफ-सुथरे घर में मां लक्ष्मी का निवास होता है। यही कारण है कि दिवाली व अन्य त्योहारों पर हम अपने घरों की विशेष साफ-सफाई करते हैं जिससे घर में मां लक्ष्मी का आगमन हो। वास्तुशास्त्र में झाड़ू को लक्ष्मीजी का प्रतीक माना गया है। इसलिए यदि झाड़ू को ठीक ढंग से न रखा जाए तो इसका दुष्प्रभाव हमारे जीवन पर पड़ता है। झाड़ू का इस्तेमाल लगभग हर घर में किया जाता है। घर की साफ-सफाई में इसका उपयोग होता है। घर की साफ-सफाई के लिए इस्तेमाल होने वाली झाड़ू को लोग भले ही एक सामान्य सी वस्तु मानते हों, लेकिन इसका संबंध आपके सुख और सौभाग्य से जुड़ा हुआ है। ज्योतिष के अनुसार झाड़ू का संबंध धन की देवी मां लक्ष्मी से होता है। कहा जाता है कि जिस घर में साफ-सफाई होती है, उसी घर में मां लक्ष्मी का आगमन होता है। इसके अलावा भी शास्त्रों में झाड़ू से जुड़े कई नियम बताए गए हैं, जिसे नहीं मानने पर मां लक्ष्मी नाराज हो जाती हैं। झाड़ू को लेकर वास्तु शास्त्र में कई खास बातें बताई गई हैं। वास्तु शास्त्र के अनुसार, झाड़ू से जुड़ी एक गलती अमीर से अमीर इंसान को कंगाल कर सकती है। आइए जानते हैं अगर घर में रखी झाड़ू टूट जाए तो नई झाड़ू खरीदते समय किन बातों का ख्याल रखना जरूरी है।

घर में कब लाएं नई झाड़ू
नई झाड़ू खरीदने के लिए अमावस्या, मंगलवार, शनिवार तथा रविवार अच्छे दिन माने जाते हैं। कृष्णपक्ष में झाड़ू खरीदना शुभ होता है। ऐसा करने से सुख-समृद्धि बढ़ती है और घर के मालिक पर मां लक्ष्मी हमेशा मेहरबान रहती हैं।

इस दिन ना खरीदें झाड़ू
वास्तु शास्त्र के अनुसार, शुक्ल पक्ष में नई झाड़ू घर लाने के अशुभ परिणाम होते हैं। इसलिए शुक्ल पक्ष में नई झाड़ू खरीदकर कभी घर ना लाएं।

इन दिनों में न फेंकें पुरानी झाड़ू
गुरूवार, एकादशी, पूर्णिमा, मंगलवार को पुरानी झाड़ू कभी भी घर के बाहर नहीं फेंकना चाहिए। मान्यता है यदि आपने इन दिनों में पुरानी झाड़ू फेंक दी तो कंगाली आ सकती है।

आइए जानते हैं वास्तु के अनुसार झाड़ू के बारे में...

1. वास्तु शास्त्र के अनुसार सूर्यास्त के बाद यानी संध्या के समय व रात को झाड़ू लगाना अशुभ माना गया है। मान्यता के अनुसार संध्या होने के बाद झाड़ू लगाने से मां लक्ष्मी नाराज हो जाती हैं और घर में दरिद्रता आती है। इसलिए प्रयास करें कि शाम या रात के समय घर या ऑफिस में झाड़ू न लगाएं।

2. वास्तुशास्त्र के अनुसार अगर नई झाड़ू खरीदनी हो तो शनिवार के दिन खरीदनी चाहिए। शनिवार के दिन झाड़ू खरीदना शुभ माना जाता है। इससे मां लक्ष्मी के साथ-साथ शनिदेव भी प्रसन्न होते हैं।

3. नकारात्मक ऊर्जा से बचने के लिए झाड़ू को रखने के लिए दक्षिण, पश्चिम या दक्षिण-पश्चिम दिशा का चुनाव करना चाहिए। वास्तु के अनुसार इस दिशा में झाड़ू रखना सबसे अच्छा माना गया है। वास्तुशास्त्र में कहा गया है कि झाड़ू को कभी भी उत्तर-पूर्व दिशा यानि ईशान की दिशा में नहीं रखना चाहिए।

4. वास्तुशास्त्र के अनुसार घर में झाड़ू को हमेशा छिपाकर रखना चाहिए। झाड़ू को खुले स्थान या ऐसी जगह पर नहीं रखना चाहिए जहां सबकी नजऱ पड़े। माना जाता है कि खुले में झाड़ू रखने से घर में बरकत नहीं होती वहीं धन हानि हो सकती है।

5. कई बार झाड़ू के टूट जाने या उसके घिस जाने पर भी हम उसका उपयोग करते रहते हैं, लेकिन वास्तु की दृष्टि में यह ठीक नहीं। यदि घर या ऑफिस की झाड़ू टूट जाए तो उसे तुरंत बदल लें। टूटी हुई झाड़ू से कहीं की भी सफाई करना अनेक तरह की परेशानियों को निमत्रंण देता है।

6. मान्यता है कि झाड़ू को कभी भी खड़ा करके नहीं रखना चाहिए। यह अपशकुन माना जाता है और इससे घर में दरिद्रता आती है। वास्तु के अनुसार झाड़ू को हमेशा जमीन पर लिटा कर रखना चाहिए।

7. वास्तुशास्त्र के अनुसार कभी भी भी झाड़ू को पैर नहीं लगाना चाहिए, इससे माँ लक्ष्मी का अनादर होता है और आपको कई आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इसी प्रकार झाड़ू से किसी भी जीव को भगाना या मारना बहुत अशुभ माना गया है।

8. मान्यता के अनुसार यदि परिवार का कोई सदस्य किसी काम के लिए घर से बाहर गया हो तो उसके जाने के तुरंत बाद झाड़ू नहीं लगनी चाहिए। वास्तु में माना जाता है कि किसी के घर से तुरंत जाने के बाद झाड़ू लगाने से अपशकुन होता है।

9. कभी भी किचन या स्वच्छता वाली जगहों पर झाड़ू नहीं रखनी चाहिए। ऐसा करने से घर में दरिद्रता और बीमारियों का वास होता है। किचन में झाड़ू रखने से घर के सदस्यों के स्वास्थ्य पर भी बुरा असर पड़ता है।

Home I About Us I Contact I Privacy Policy I Terms & Condition I Disclaimer I Site Map
Copyright © 2022 I Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved I Our Team