मकर संक्रान्ति से बुध होने जा रहे वक्री, इन राशियों पर प़डेगा प्रभाव

ज्योतिष शास्त्र में ग्रहों के राशि परिवर्तन को यूं तो सामान्य बात माना जाता है। हर ग्रह अपनी चाल के अनुरूप राशि बदलता रहता है। ग्रहों के एक राशि से दूसरी राशि में जाने से ज्योतिष शास्त्र अनुसार बताई 12 राशियों पर थोड़ा-थोड़ा प्रभाव पड़ता है। ग्रह गोचर के साथ समय-समय पर मार्गी और वक्री भी होते हैं। मार्गी का अर्थ सीधी चाल और वक्री का अर्थ उल्टी चाल होती है। अब बुध 21 दिनों के लिए वक्री होने जा रहे हैं। बुध 14 जनवरी से 4 फरवरी तक मकर राशि में वक्री अवस्था में रहेंगे। इस दौरान मेष समेत 4 राशि वालों के जीवन पर प्रभाव पड़ेगा। इन राशि वालों को बेहद सावधान रहने की जरूरत है।

मेष—बुध आपकी राशि के दसवें भाव यानी करियर, नाम और यश के भाव में वक्री रहेंगे। ऐसे में इस राशि के जातकों के ऊपर काम का बोझ बढ़ सकता है। बॉस या उच्चाधिकारियों के साथ मनमुटाव हो सकता है। विवाहित जातकों को पारिवारिक विवाद का सामना करना पड़ सकता है।

वृषभ—आपकी कुंडली के नौवें भाव में बुध वक्री होंगे। इस दौरान किसी भी तरह का नया काम शुरू न करें। भाग्य का साथ नहीं मिलेगा। पिता के साथ संबंध बिगड़ सकते हैं।

कन्या—बुध ग्रह कन्या राशि की कुंडली के पंचम भाव में वक्री होंगे। इस दौरान पारिवारिक जीवन में तनाव का सामना करना पड़ सकता है। पार्टनर के साथ अनबन हो सकती है। शेयर मार्केट में निवेश करने से बचें। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे जातकों को मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।

वृश्चिक—बुध आपकी कुंडली के तीसरे भाव में गोचर करेंगे। यात्रा के दौरान आपको मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। सावधान रहें। जमीन से जुड़े मामलों में निवेश न करें। मां के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। रिश्ते में पारदर्शिता रखें।

दी गई जानकारी पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

Home I About Us I Contact I Privacy Policy I Terms & Condition I Disclaimer I Site Map
Copyright © 2022 I Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved I Our Team