घर में रखना चाहिए गोमती चक्र, सुख-समृद्धि के साथ होता है माँ लक्ष्मी का वास


शास्त्रों में ऐसे बहुत से उपाय बताए गए हैं जिनके अपनाने से घर में सुख-समृद्धि के साथ माँ लक्ष्मी का वास होता है। ऐसा ही एक जिक्र शास्त्रों में गोमती चक्र को लेकर किया गया है। प्राकृतिक रूप से गोमती चक्र गोमती नदी से प्राप्त किया जाता है। यह सिर्फ गोमती नदी से ही मिलता है।

गोमती चक्र को शास्त्रों में भगवान श्रीकृष्ण के सुदर्शन चक्र का सूक्ष्म स्वरूप मानने के साथ-साथ शुभ आध्यात्मिक शैल पत्थर माना गया है। गोमती चक्र के बारे में मान्यता है कि जिस घर में भी गोमती चक्र रहता है वहाँ सुख और समृद्धि के साथ माँ लक्ष्मीजी का वास रहता है। इतना ही नहीं यह लगभग सभी समस्याओं को दूर कर आपके जीवन में खुशियों के द्वार खोल देता है। आइए डालते हैं एक नजर गोमती चक्र से जुड़े कुछ खास उपायों पर...

सुखी दांपत्य जीवन के लिए

अगर पति-पत्नी के मध्य क्लेश बढ़ता जा रहा है, तो लाल रंग के कपड़े में मु_ी भर पीली सरसों के दाने और गोमती चक्र रखें। गोमती चक्र पर पति-पत्नी का नाम लिखा होना चाहिए। अब इस कपड़े को बांधकर सदैव अपने कमरे में किसी ऐसे स्थान पर रखें, जहां से वह हमेशा नजर आता रहे। इससे रिश्ते पर सकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव रहता है और आपसी प्यार बढ़ेगा।

वास्तु दोष दूर करे
गोमती चक्र का घर के वास्तुदोष निवारण में भी बहुत योगदान है। भवन निर्माण के समय इमारत के नीचे 11 गोमती चक्र मिट्टी में दबा देने से घर में रहने वाले सभी सदस्यों के जीवन में सुख-समृद्धि आती है और घर नेगेटिव एनर्जी से दूर रहता है। यदि घर पहले से बना हुआ है और दबाने की कोई जगह नहीं है तो 11 गोमती चक्र अपने पूजा स्थल में रखें।

व्यापार में वृद्धि के लिए गोमती चक्र
व्यापार में वृद्धि के लिए गोमती चक्र का इस्तेमाल किया जा सकता है। अपने व्यवसाय के स्थान पर शुक्ल पक्ष में गुरुवार के दिन आप हल्दी और केसर से 12 गोमती चक्रों पर तिलक लगाकर एक कपड़े में बांध कर रख दें। चाहें तो इस कपड़े को आप चौखट पर लटका भी सकते हैं। ऐसा करने से व्यापार में जल्द ही वृद्धि होने लगेगी। इसी प्रकार गोमती चक्र लाल कपड़े में लपेटकर लॉकर या कैश बॉक्स में रखने से कभी धन की कमी नहीं होती।

बीमार व्यक्ति को होगा फायदा
यदि आपके घर का कोई सदस्य इलाज करने के बाद भी ठीक नहीं होता है तो 21 सिद्ध अभिमंत्रित गोमती चक्र रोगी के सिर पर घुमाएं और उसे बीमार आदमी के पलंग में बांध दें, ऐसा करने से वह जल्दी स्वस्थ होगा।

बेहतर शिक्षा के लिए गोमती चक्र
विद्यार्थियों को शिक्षा में एकाग्रता न मिल रही हो, तो गोमती चक्र को सात बार अपने सिर पर फिराकर खुद ही अपने पीछे दक्षिण दिशा की ओर फेंक देना चाहिए। यह प्रयोग एकांत स्थान पर करना चाहिए तथा प्रयोग के बाद किसी से इसका जिक्र नहीं करना चाहिए। इसी प्रकार बच्चों की पढ़ाई में कोई परेशानी या रुकावट आ रही है, तो सोमवार के दिन भगवान शिव को जल अर्पण करके 11 गोमती चक्र अर्पित करें। फिर इनको लेकर बच्चों के पढ़ाई वाले कमरे में लाल वस्त्र में बांधकर रख दें, लाभ होगा।

Home I About Us I Contact I Privacy Policy I Terms & Condition I Disclaimer I Site Map
Copyright © 2022 I Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved I Our Team