वास्तु अनुसार होना चाहिए नवविवाहितों का कमरा, जीवन में आएगी बहार

लगातार बढ़ते तापमान में शादियों की धूम ने और गर्मी पैदा कर दी है। हर दिन कई जोड़े शादी के बंधन में बंध रहे हैं और अपने जीवन की नई शुरुआत कर रहे हैं। हर जोड़ा शादी के बाद सुखी वैवाहिक जीवन की आशा करता है और भगवान से प्रार्थना करता है कि उसका जीवन खुशियों से भरा रहे। सुखी वैवाहिक जीवन की शुरूआत नवविवाहित जोड़े के बेडरूम से होती है। कहते हैं यदि इसका वास्तुशास्त्र सही हो तो नवविवाहित जोड़े के जीवन में आने वाली बाधाओं का निराकरण हो जाता है।

आज हम अपने पाठकों के लिए इससे सम्बन्धित कुछ जानकारी लेकर आए हैं कि वास्तु के अनुसार नवविवाहित जोड़ों का कमरा कैसा होना चाहिए ताकि वैवाहिक जीवन में खुशियों का आगमन हो। आइए डालते हैं एक नजर इन वास्तु उपायों पर...

बैडरूम की दिशा
वास्तु के हिसाब से ऐसा माना जाता है कि नवविवाहित जोड़े का कमरा दक्षिण-पश्चिम दिशा में या फिर उत्तर-पश्चिम दिशा में होना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि इस दिशा में बेडरूम होने से दोनों के बीच में संबंध मधुर होते हैं और दोनों एक-दूसरे को अच्छे से समझ पाते हैं। वास्तु के हिसाब से इस दिशा को प्यार और रोमांस का स्थान माना जाता है। इस वजह से आपकी शादीशुदा जिन्दगी को खुशनुमा बनाने में इस दिशा का भी योगदान बढ़ जाता है।

सोने की दिशा
नवविवाहित लोगों के लिए सोने की दिशा बहुत मायने रखती है। सोते वक्त आपका सिर दक्षिण की तरफ होना चाहिए और पैर उत्तर की तरफ होने चाहिए। इस दिशा में आपको मीठी नींद आती है और आप सुबह एक फ्रैश मूड के साथ उठते हैं। आपका यह प्यारा सा मूड आपके वैवाहिक जीवन को और भी खुशनुमा बना देता है।

कुछ ऐसी होनी चाहिए रोशनी
वास्तु के हिसाब से नवविवाहित जोड़े के कमरे में रोशनी का भी खास महत्व होता है। लाइट हमेशा इस प्रकार से लगाएं कि इसकी बीम सीधे बेड के ऊपर न आए। ऐसा माना जाता है कि बीम होने से आपकी नींद में खलल पड़ता है और इस वजह से आपका स्वास्थ्य खराब रहता है। खिड़कियाँ इस प्रकार से होनी चाहिए कि उनसे होकर कमरे में किसी प्रकार की बाहरी लाइट अंदर न आए। ऐसा माना जाता है कि ऐसा होने से दोनों के करीब आने में बाधा उत्पन्न होती है। अगर आपके कमरे में ऐसा है और आप इसे दूर नहीं कर सकते हैं तो आपको खिडक़ी पर पर्दे डाल देने चाहिए।

कमरे का पेंट
वास्तु कहता है कि नवविवाहित जोड़े के कमरे में पेंट का कलर डल नहीं होना चाहिए। भूलकर भी कमरे में ग्रे, ब्राउन, ब्लैक या फिर क्रीम कलर का प्रयोग न करें। इनकी बजाए कमरे में पिंक, येलो, ब्लू या फिर ऑरेंज कलर हो तो बहुत अच्छा होता है। कमरे में डलनैस होने से आपका वैवाहिक जीवन भी फीका पडऩे लगता है।

फूल और लैंप
नवविवाहित जोड़ों के कमरे में फ्लॉवर और लैंप बहुत मायने रखते हैं। फूल आपके जीवन में खुशियों के रंग भर सकते हैं और इनकी भीनी-भीनी खुशबू रोमांस के लिए आपके मूड को और भी खास बना सकती है। भूलकर भी अपने कमरे में नकली फूलों का प्रयोग न करें। इनके स्थान पर ताजे फूल कमरे में लगाएं। वहीं कमरे में हरे और नीली रोशनी वाले लैंप लगाना भी अच्छा माना जाता है। ये रंग आपके जीवन में आकर्षण पैदा करते हैं।

शयनकक्ष में न करें आफिस वर्क
कोरोना के बाद से ज्यादातर लोग वर्क फ्रॉम होम कर रहे हैं। यदि आपका काम भी वर्क फ्रॉम होम चल रहा है तो नवविवाहित जोड़े को अपने कमरे में बैठकर ऑफिस का काम नहीं करना चाहिए। यह आपके वैवाहिक जीवन के लिए कतई सही नहीं है। आपको आपके ऑफिस वर्क के लिए एक अलग कमरा लेना चाहिए, जहाँ सिर्फ ऑफिस का काम ही हो।

Home I About Us I Contact I Privacy Policy I Terms & Condition I Disclaimer I Site Map
Copyright © 2022 I Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved I Our Team