प्रियंका चोपड़ा किसे पढ़ा रही हैं नारीवाद का ये पाठ

लॉस एंजेलिस। बॉलीवुडअभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा ने खुद को नारीवादी बताया और कहा कि लोगों को यह नहीं सोचना चाहिए कि इस शब्द का मतलब पुरुषों को धमकाना या उनसे नफरत करना होता है।प्रियंका ने वेरायटी डॉट कॉम से कहा, ‘‘नारीवाद का मतलब यह नहीं है कि आप पुरुषों को धमकाएं, उनसे नफरत करें या यह सुनिश्चित करने की कोशिश करें कि हम उनसे बेहतर हैं।’’

उन्होंने आगे कहा, ‘‘नारीवाद का मतलब यह कि जो निर्णय मैं लेती हूं उसके आधार पर आंके बगैर मुझे अवसर दीजिए, जिसकी आजादी पुरुष वर्ग को सदियों से मिली हुई है। नारीवाद को पुरुषों की आवश्यकता है।’’प्रियंका तब निराश महसूस करती हैं, जब कोई नारीवाद को नकारता है।

उन्होंने कहा, ‘‘मेरी बहुत-सी ऐसी दोस्त हैं, जो कहती हैं कि वह नारीवादी नहीं है। मैं यह समझ नहीं पाती हूं। नारीवाद की आवश्यकता ही इसलिए है, क्योंकि महिलाओं को समान अधिकार नहीं थे। इसलिए यहां कोई मनुष्यवाद नहीं है, क्योंकि उनके पास यह हमेशा से था।’’

प्रियंका ने कहा कि उनके माता-पिता ने उनकी परवरिश एक खुले विचार का इंसान बनने के लिए की थी। उन्होंने कहा, ‘‘मेरी परवरिश निडर बनने के लिए की गई थी। मेरे पिता मुझसे हमेशा कहते थे कि महिलाओं को हमेशा से सही तरीके से रहने, सही कपड़े पहनने या सही से बात करने को कहा जाता है। लेकिन मेरे माता-पिता हमेशा कहते थे कि हमें अपनी परवरिश में भरोसा है, तुम ठीक रहोगी।’’

करें ये 15 उपाय, नहीं रहेंगे कुंवारे, होगी जल्‍दी शादी
कुंवारे युवक-युवतियों को निहाल करेगा वर्ष 2017
शनि की साढे़साती के अशुभ फलों के उपाय

Home I About Us I Contact I Privacy Policy I Terms & Condition I Disclaimer I Site Map
Copyright © 2019 I Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved I Our Team