सौ सालों में पहली बार नवग्रह 2017 में करेंगे अपनी राशि परिवर्तन

नया साल धीमे-धीमे दस्तक देने लगा है। नए साल की शुरुआत रविवार को ही हो रही है। चूंकि रविवार के स्वामी सूर्यदेव हैं लिहाजा 2017 में सूर्यदेव का पूरा प्रभाव रहेगा। इस साल के अधिपति ग्रह भी सूर्यदेव ही रहेंगे। शताब्दी में पहली बार नवग्रह 2017 में अपनी राशि परिवर्तन करेंगे। इसके पहले 19वीं शताब्दी में ऐसी घटना हुई थी।

सूर्य, चंद्र, मंगल, बुध और शुक्र हर वर्ष अपनी राशि परिवर्तित करते हैं, परंतु शनि, बृहस्पति, राहु और केतु हर वर्ष अपनी राशि परिवर्तित नहीं करते हैं। शनि अपनी राशि ढाई वर्ष में, बृहस्पति 13 महीने में, राहु और केतु 18 महीने में अपनी राशि परिवर्तित करते हैं।
इस तरह सन् 2000 के बाद अलग-अलग वर्षों में शनि, बृहस्पति, राहु और केतु अपनी राशि का परिवर्तन कर चुके हैं। लेकिन शताब्दी में पहली बार नवग्रह अपनी राशि एक ही वर्ष में बदल रहे हैं।

बृहस्पति 12 सितम्बर को कन्या राशि का परित्याग कर तुला राशि में प्रवेश करेंगे।
शनि देव 25 अक्टूबर को वृश्चिक राशि का त्याग कर धनु-राशि में जाएंगे।
राहु 17 अगस्त को सिंह राशि का त्याग कर कर्क राशि में प्रवेश करेंगे।
केतु भी 17 अगस्त को कुंभ राशि का त्याग कर मकर राशि में जाएंगे।
रोटी के एक टुकडे से हो जाएंगे वारे-न्यारे

Home I About Us I Contact I Privacy Policy I Terms & Condition I Disclaimer I Site Map
Copyright © 2019 I Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved I Our Team